Akbar birbal story in hindi for two man, अकबर बीरबल और दो आदमी की कहानी

Akbar birbal story in hindi for two man

Akbar birbal story in hindi for two man, अकबर बीरबल और दो आदमी की कहानी, बीरबल जी ने देखा की दो आदमी कुछ कह रहे है, मगर बीरबल जी को कुछ भी समझ नहीं आ रहा था, की वह किस बारे में बात कर रहे है birbal जी उनके पास आते है और कहते है की तुम दोनों आदमी because झगड़ रहे हो, वह दोनों कहते है की आप आ गए है तो बहुत अच्छी बात है because हम दोनों एक बात का फैसला नहीं कर पर रहे है, उसी बात को लेकर झगड़ा हो रहा है, बीरबल जी कहते है इसके लिए तो तुम्हे akbar से मिलना होगा, वही इस बात का फैसला कर पायंगे की आप दोनों के बीच क्या बात है,

Akbar birbal story in hindi for two man : अकबर बीरबल और दो आदमी की कहानी

Akbar birbal story in hindi

Akbar birbal story in hindi

वह दोनों आदमी akbar के पास आते है और कहते है की हमारे बीच का फैसला कीजिये अकबर कहते है की पहले यह बताओ की बात क्या है तभी इस बात का फैसला होगा की तुम दोनों आदमी क्या चाहते हो, वह दोनों आदमी कहते है की मेने एक दिन बकरी ली थी, वह बकरी बहुत दूध देती है, यह बात यह भी जनता है, but मुझे कुछ दिन के लिए अपने गांव में जाना था जोकि बहुत दूर है यह बात सोचकर की बकरी को में कहा ले जा सकता हु मेरा सफर भी बहुत दूर का है, इसलिए यह बकरी मेने अपने दोस्त के पास छोड़ दी थी, जोकि आपके सामने है

 

अब बीरबल को पता चल गया था की यह दोनों दोस्त है but यह झगड़ा क्यों कर रहे थे यह बात मुझे पता नहीं है उसके बाद अकबर कहते है की ठीक है अब तुम बताओ की आगे क्या हुआ था, उसके बाद वह आदमी कहता है की मेने अपनी बकरी अपने दोस्त के यहां पर छोड़ दी थी, उसके बाद में अपने गांव चला गया था, उसके बाद वह बकरी हर रोज दूध देती है यह बात मेरा दोस्त जानता है इसलिए उसने उसका दूध निकाला और उसका उपयोग किया था इसके परिवार वाले मेरी बकरी का हर रोज दूध पीते थे, जब मुझे गए हुए सात दिन हो गए, तो यह सात दिन से बकरी का दूध पी रहे है

 

उसके बाद वह आदमी कहता है की में जब आया तो मुझे पता चला की यह हर रोज उसका दूध पीते है जब मेने सात दिन का धन माँगा तो यह मना कर रहा है जबकि इसका परिवार हर रोज दूध पिता है और यह मेरा धन भी नहीं दे रहे है जोकि में बकरी के दूध का मांग रहा हु यह बता सुनकर अकबर को कुछ भी समझ नहीं आता है की क्या फैसला किया जाए, वह आदमी कहता है की मुझे दूध का पैसा चाहिए, बीरबल सब कुछ समझ गए थे, अकबर बीरबल से कहते है की इसका क्या फैसला होना चाहिए,      

 

बीरबल कहते है की आप चिंता न करे हम जल्द ही फैसला करते है बीरबल उस आदमी के पास जाते है जिसके पास बकरी छोड़ी गयी थी, उससे बात करते है वह कहता है की मेने जब बकरी को रखा था तो ऐसी कोई भी बता नहीं हुई थी अगर यह मुझे मना करके जाते है तो ऐसा नहीं होता, but कुछ भी नहीं कहा था, but एक बात में आपसे यह भी कहना चाहता हु की मेरा दोस्त मुझसे धन मांग रहा है, जबकि यह नहीं जनता है की मेने बकरी की रखवाली की थी, उसके लिए भोजन की व्यवस्था की थी, उसे भूखा नहीं रखा था

Akbar birbal story in hindi

जब मेने उसे भोजन दिया और उसकी रखवाली की तो उसके बदले में मेने बकरी के दूध का प्रयोग किया था but यह मुझसे धन की मांग कर रहा है बीरबल कहते है की हमे समझ आ गया है की यह व्यक्ति धन नहीं देगा क्योकि बकरी को रखने में किया गया खर्च जोकि सात दिन का है, उसके बदले में बकरी के दूध का प्रयोग करना बराबर हो गया है, अकबर भी कहते है की यही ठीक है अब तुम दोनों जा सकते हो, because दोनों की कीमत बराबर हो गयी है उसके बाद दोनों आदमी घर चले जाते है अगर आपको यह Akbar birbal story in hindi for two man पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे.

Read More Hindi story :-

अकबर बीरबल के किस्से की कहानी

राजकुमारी और राजकुमार की नयी कहानी

जंगल के जादुई पेड़ की कहानी

जानवरों की सभा की हिंदी कहानी

मोटू पतलू और सपने की कहानी 

राजकुमारी की नयी कहानी 

राजकुमार और परियों की कहानी

राजकुमारी और बच्चों की काहनी

शेर हाथी और बंदर की कहानी

सोने की चिड़िया की हिंदी कहानी

छोटे कार्टून की अच्छी कहानी

बीरबल की नयी कहानी

दो आदमी की पंचतंत्र कहानी

जादुई घंटी की कहानी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *