Do baccho ki kahani

Do baccho ki kahani and bachon ki kahani in hindi, दो बच्चें और चिराग की कहानी

Do baccho ki kahani and bachon ki kahani in hindi

Do baccho ki kahani, दो बच्चें और चिराग की कहानी, वह दोनों बच्चे साथ में गांव जा रहे थे, उन्हें यह नहीं पता था की रस्ते में उनके सामने समस्या आ सकती है, वह दोनों साथ में गांव में पहुंचने वाले थे की रस्ते में एक आदमी मिलता है वह आदमी उनसे कहता है की मुझे तुम्हारी मदद की जरूरत है, अगर तुम दोनों मेरी मदद कर सकते हो तो बहुत अच्छा है, वह दोनों बच्चे सोचते है की, यह हमसे कैसी मदद मांग रहा है, वह दोनों कहते है की अभी तो हमे अपने गांव में जाना है,

Do baccho ki kahani : दो बच्चें और चिराग की कहानी

Do baccho ki kahani
Do baccho ki kahani

वह आदमी कहता है की यह मदद मेरे लिए है, but तुम्हे भी बहुत कुछ मिल सकता है, जो तुम चाहो वह हो सकता है, वह दोनों बच्चे सोचते है की यह हमसे क्या करवाना चाहता है वह दोनों बच्चे उसे पूछते है की तुम क्या चाहते हो पहले इस बात को बताओ, वह आदमी कहता है की तुम्हे मेरे साथ में चलना होगा, वह दोनों बच्चे साथ में जाते है वह आदमी कहता है की यह गुफा है, इस गुफा में वह है, जो तुमने कभी भी सोचा नहीं होगा, वह दोनों पूछते है की इसमें क्या है, वह आदमी कहता है की इस गुफा में सब कुछ है,

जादुई घंटी की कहानी

जब तुम दोनों बच्चे इस गुफा में जाते हो, तो तुम्हे दो दरवाजे मिलेंगे, पहले दरवाजे में तुम्हे जाना नहीं है, दूसरे दरवाजे में तुम जाते हो, तो बहुत अच्छा होगा वही पर तुम्हे वह चिराग मिल सकता है चिराग का नाम सुनकर वह दोनों बच्चे कहते है की यह अलादीन का चिराग है, वह आदमी कहता है की यह चिराग वह तो नहीं है but उस जैसा काम कर सकता है तुम्हे सब कुछ दे सकता है अब वह दोनों बच्चे समझ जाते है की यह बात क्या है,

दो आदमी की पंचतंत्र कहानी

वह दोनों बच्चे पूछते है की तुम उस जगह पर क्यों नहीं जाते हो, तुम्हारे हमारी क्या जरूरत है, वह आदमी कहता है की जब तुम उस गुफा में जाते हो तो कोई तो यहां पर होना चाहिए जोकि यहां पर रुकर परेशानी का सामना कर सके, वह दोनों बच्चे सोचते है की हमे यह काम करना चाहिए या नहीं कुछ समझ नहीं आ रहा है, वह आदमी कहता है की तुम्हे गुफा में जाना है, उसके बाद तुम्हे सब कुछ मिल सकता है, वह दोनों बच्चे गुफा में जाते है, वह दोनों बहुत डर जाते है, क्योकि वह पहले ऐसी जगह पर नहीं आये थे,

बीरबल की नयी कहानी

वह दोनों बच्चे गुफा में जाते है दूसरे दरवाजे की कर जिसके बारे में उसने बताया था, उस गुफा में जो दरवाजा है, उसमे जाते है तो उस जगह पर उन्हें चिराग मिलता है वह चिराग चमक रहा था दूसरा बच्चा कहता है की मुझे नहीं लगता है की यह कुछ कर सकता है वह चिराग को लेना चाहता है यह सोने का बना हुआ है वह दोनों समझ गए थे की यह चिराग सोने का है, वह इसे लेना चाहता है वह हमे यहां पर मुसीबत में डाल सकता है, वह दोनों बाहर आते है

छोटे कार्टून की अच्छी कहानी

वह आदमी कहता है की वह चिराग किस जगह पर है, वह दोनों बच्चे कहते है की उस जगह पर कोई चिराग नहीं है तुम झूट कहते हो, यह बात समझ नहीं सकता था, Because वह दोनों बच्चे खाली हाथ यहां पर आये थे, वह दोनों घर की और जाने लगते है वह आदमी कहता है की उस जगह पर क्या था वह चिराग नज़र नहीं आया है वह दोनों बच्चे कहते है की उस जगह पर कुछ नहीं है, वह जगह खाली है, हमे घर जाना है, वह दोनों घर चले जाते है but वह आदमी सोचता है की यह कैसे हो सकता है वह चिराग तो वही पर होना चाहिए but वह नहीं है, अब वह आदमी सोचता है की मुझे ही वही पर जाना चाहिए, but वह दरवाजे के रस्ते को पार नहीं कर सकता है वह बहुत छोटा है,

Do baccho ki kahani and bachon ki kahani in hindi

कुछ दिन बीत जाते है but उस आदमी को कोई भी रास्ता नहीं मिलता है वह परेशान है, but अभी भी वह उस जगह पर जाने के लिए किसी की तलाश कर रहा है, अगर आपको यह Do baccho ki kahani पसंद आयी है तो शेयर कर सकते है,   

 

दो बच्चें और चिड़िया की कहानी : Do baccho ki kahani and bachon ki kahani in hindi

वह दोनों बच्चें चिड़िया को देख रहे थे, वह चिड़िया उनकी छत पर आकर बैठ जाती है वह दोनों बच्चें उसकी और दौड़कर जाते है, वह चिड़िया को पकड़ना चाहते है but वह आसान नहीं था वह चिड़िया उड़कर चली जाती है, वह दोनों बच्चें उसकी और दौड़कर जाते है but वह एक पेड़ पर बैठ जाती है, अब वह बच्चें उसे पकड़ नहीं सकते थे, वह बच्चें यही बात सोचते है की यह चिड़िया कहा पर रहती है वह उसके घोसले में देखते है,

सोने की चिड़िया की हिंदी कहानी

वह घोसला उसी पेड़ पर था वह दोनों बच्चें उस पेड़ पर चढ़ जाते है, वह घोसले को देखते है उसमे बहुत सारे तिनके रखे हुए थे, वह घोसला बहुत अच्छा बना हुआ था, वह चिड़िया उन्हें भगा रही थी, Because वह उसके घोसले में देख रहे थे, वह दोनों बच्चें घोसले को नीचे उतरना चाहते है उसी जगह से एक बूढ़ा आदमी आता है वह देखता है की बच्चें उस चिड़िया का घोसला उतार रहे है, जबकि यह अच्छी बात नहीं है, वह बूढ़ा दोनों बच्चो को कहता है की तुम्हे यह घोसला नहीं लेना चाहिए, वह दोनों बच्चें घोसला रख देते है,

Do baccho ki kahani and bachon ki kahani in hindi

वह बूढ़ा आदमी उन दोनों बच्चो से कहता है की तुम्हे चिड़िया का घोसला नहीं लेना चाहिए Because वह बहुत मुश्किल से वह घोसला बना पाती है, बहुत समय के बाद घोसला तैयार होता है वह चिड़िया तिनका लाती है, उसके बाद वह उस घोसले को बना पाती है, तुम्हे सोचना चाहिए की ऐसा कोई भी काम नहीं करना है जोकि किसी को मुसीबत में डाल सके, वह दोनों बच्चें समझ जाते है की वह गलत कर रहे थे, हमे भी जीवन में अच्छे काम करने चाहिए, जोकि दुसरो के काम आ सकते है, अगर आपको यह बच्चो की कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

 

दो बच्चों और जलपरी की कहानी : Do baccho ki kahani and bachon ki kahani in hindi

वह दोनों बच्चों नदी के किनारे के पास बैठे थे, वह दोनों बच्चों जानते थे, की नदी के किनारे से उन्हें बहुत सारी मछली मिल सकती है, वह मछली को पकड़ने जाते है, वह देखते है की एक पत्थर के पास कोई बैठा है, but वह साफ़ नज़र नहीं आ रहा है, वह दोनों बच्चे समझ नहीं पाते है, की वह कौन है, Because उस पत्थर के पास कौन हो सकता है, उसको देखने के लिए वह दोनों बच्चे पास जाना चाहते है, but उनकी नज़र पड़ जाती है, यह जलपरी है,

शेर हाथी और बंदर की कहानी

वह जलपरी को देखर बहुत खुश हो जाते है, Because उन्होंने पहले कभी भी जलपरी को नहीं देखा था वह उसके पास जाना चाहते है but नदी बहुत गहरी है वह उस जगह पर नहीं जा सकते है but यह नदी के पास पत्थर कैसा है जिस पर वह जलपरी बैठी है, उस पत्थर तक पहुंच सकते है, तो वह जलपरी हमे मिल सकती है, वह नहीं में नाँव का इंतज़ाम करते है, क्योकि एक नाँव ही उस जलपरी तक पहुंचा सकती है, वह दोनों बच्चे नाँव में बैठ जाते है उस जलपरी के पास जाते है,

Do baccho ki kahani and bachon ki kahani in hindi

वह जलपरी एक नाँव को पास आता हुआ देखती है वह नदी के अंदर चली जाती है अब दोनों बच्चे उस जलपरी को नहीं देख पाते है, Because वह पानी के अंदर चली जाती है, वह दोनों बच्चे पानी के अंदर नहीं जा सकते है, क्योकि नदी बहुत गहरी थी, but उस जलपरी को उन्होंने देखा था, वह इस बात से बहुत खुश थे, की वह जलपरी को देख पाये है, वह उस जगह से चले जाते है वह जलपरी फिर नज़र नहीं आती है अगर आपको यह बच्चों की कहानी (baccho ki kahani) पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

 

जामुन का पेड़ बच्चो की कहानी : bachon ki kahani in hindi

baccho ki kahani, सभी बच्चो ने देखा की एक पेड़ पर बहुत से जामुन लगे हुए है, उन्हें बहुत अच्छा लग रहा था की आज उन्हें जामुन खाने को मिल सकते है, but यह आसान नहीं था, Because उसी जगह पर एक बंदर रहता था, वह उन्हें जामुन नहीं देगा, सभी बच्चो ने जब जामुन के पेड़ से कुछ फल लेने चाहे तो वह बंदर उनके पास आता है, वह सभी बच्चे डर जाते है, अब उन्हें जामुन नहीं मिल सकते है, वह बंदर उन्हें डरा रहा था, “baccho ki kahani”

 

सभी को लग रहा था, की अब हमे जामुन नहीं मिल पायंगे, वह सभी बच्चे सोचते है, की जब यह बंदर यहां से चला जायेगा, तो हमे जामुन मिल सकते है but यह बंदर तो यहां से नहीं जाने वाला है, Because उसे पता है की उस पेड़ पर बहुत से जामुन है, वह सभी इंतज़ार करते है, जब यह बंदर यहां से जायेगा तो कुछ हो सकता है, कुछ देर बाद उस जगह पर बारिश होती है, बारिश की वजह से बंदर उस पेड़ को छोड़ देता है, वह दूर चला जाता है, सभी बच्चो को अब जामुन मिल सकते है,

baccho ki kahani and bachon ki kahani in hindi

सभी ने उस पेड़ से बहुत अधिक जामुन खाये अब उन्हें बहुत अच्छा लग रहा था but वह बंदर दूर से ही उन्हें देखता है वह सभी उस पेड़ से जामुन खा रहे थे, but वह कुछ भी नहीं कर सकता था, बारिश की वजह से वह पेड़ के पास नहीं जा सकता था यह सब कुछ इसलिए हुआ था Because सभी ने इंतज़ार किया था जब भी आप सब्र करते है, तो उसका फल जरूर मिलता है, यह सब्र का फल था जो उन्हें मिला था, अगर आपको यह baccho ki kahani पसंद आयी है तो शेयर करे,

Read More Hindi story :-

तेनाली रामा और बुढ़िया की कहानी

प्यासा कौवा की नयी कहानी

हिरण और बकरी की कहानी

अकबर बीरबल और दो आदमी की कहानी

अकबर बीरबल के किस्से की कहानी

राजकुमारी और राजकुमार की नयी कहानी

जंगल के जादुई पेड़ की कहानी

जानवरों की सभा की हिंदी कहानी

मोटू पतलू और सपने की कहानी 

राजकुमारी की नयी कहानी 

राजकुमार और परियों की कहानी

राजकुमारी और बच्चों की काहनी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *