Jungle ki kahani and bakri aur hiran ki kahani, हिरण और बकरी की कहानी

Jungle ki kahani and bakri aur hiran ki kahani

Jungle ki kahani and bakri aur hiran ki kahani, हिरण और बकरी की कहानी, वह बकरी इस जंगल में आकर फस गई थी वह बाहर निकलने के लिए रास्ता खोज रही थी but उसे अभी तक कोई भी रास्ता नहीं मिला था वह bakri रास्ता खोजने के लिए बहुत कोशिश कर रही थी but वह जंगल बहुत ही बड़ा था जिसकी वजह से वह बाहर निकलने में मुसीबत का सामना कर सकती थी

Jungle ki kahani and bakri aur hiran ki kahani : हिरण और बकरी की कहानी

Jungle ki kahani

Jungle ki kahani

इसलिए वह jungle में आकर बुरी तरह से फंस गई थी बकरी पास के एक गांव से आ गई थी और जैसे ही उसने देखा कि वह किस जगह पर है तो उसने देखा कि वह jungle में पहुंच गई है उसे वापस जाने के लिए रास्ता नजर नहीं आ रहा था वह जानती थी कि इस जंगल में बहुत सारे जानवर रहते हैं वह bakri बुरी तरह से डर गई थी क्योंकि उसे पता था कि यहां पर कोई भी जानवर उस पर आकर हमला कर सकता है और कुछ भी नहीं कर पाएगी

 

वह अपने गांव वापस कैसे जाएगी इस बात को सोचकर वह घबरा रही थी और रात हो चुकी थी अब वह बाहर नहीं जा सकती थी इसलिए छुपने के लिए रास्ता खोज रही थी बकरी ने देखा कि सामने से ही hiran आ रहा है hiran उसकी मदद कर सकता है यह सोचकर bakri उससे बात करने लगी और कहने लगी कि मैं पास के ही गांव से आई हूं और अगर तुम मेरी मदद कर सकते हो तो मुझे वापस जाने का रास्ता दिखाओ हिरण कहता है कि मैं रास्ता तो जानता हूं but मैंने अभी-अभी उस रास्ते पर बहुत सारे भेड़िये देखे हैं

 

इसलिए अभी जाना ठीक नहीं होगा तुम्हें यहीं पर छुपकर रहना होगा जब तक सभी भेड़िये वहां से नहीं चले जाते हैं तब तक तुम्हें यहां से बाहर नहीं निकलना है bakri उसकी बात समझ गई थी क्योंकि अगर भेड़िये ने उसे देख लिया तो उस पर हमला कर देंगे और वह कभी भी अपने घर वापस नहीं जा सकती थी इसी वजह से वह hiran भी उसी रात उस बकरी के पास ही था जब सुबह हुई तो हिरण उसे रास्ता दिखाने के लिए अपने साथ लेकर चलने लगा

 

वह हर मुसीबत को देखता हुआ जा रहा था क्योंकि वह जानता था कि अगर bakri खतरे में आ गई तो उसे कोई भी नहीं बचा पाएगा इसलिए hiran उसकी मदद करने के लिए पूरी तरह से तैयार था हिरण जानता था कि यह जंगल बहुत बड़ा है और इस से निकलना आसान नहीं है इसलिए हिरण बकरी के साथ ही चल रहा था और बकरी अब जंगल से बाहर आ चुकी थी और hiran ने उसे रास्ता दिखा दिया था कि वह तुम्हारा गांव है तुम अपने गांव वापस आ सकती हो bakri ने हिरण को कहा कि तुमने मेरी मदद की तुमने मुझे गांव में जाने का रास्ता बताएं तुम बहुत अच्छे हो और सभी की मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहते हो

 

तुमने मुझे मुसीबत से भी दूर रखा और इस तरह मुझे अपने घर वापस पहुंचा दिया तुम्हारा बहुत-बहुत धन्यवाद हिरण ने कहा कि जंगल बहुत बड़ा है मैंने तुम्हें jungle से बाहर निकाल दिया मुझे पता था कि अगर तुम इस जंगल से बाहर नहीं निकल सकती हो सकता था कि बहुत सारे भेड़िए तुम पर हमला कर देंगे इसलिए मैंने तुम्हारी मदद की थी अब तुम अपने गांव वापस जा सकती हो

Jungle ki kahani

उसके बाद bakri गांव की ओर चल पड़ी बकरी अपने घर वापस जा रही थी और इस बात को भी सोच रही थी कि hiran ने मेरी मदद की जिसकी वजह से आज मैं अपने घर वापिस जा सके अगर जीवन में मुझे भी उसकी मदद करने का मौका मिला तो मैं उसकी मदद जरूर करूंगी, अगर आपको यह जंगल की कहानी (Jungle ki kahani and bakri aur hiran ki kahani) पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

 

बकरी और हिरन जंगल की दूसरी कहानी

बकरी झोपडी के बाहर खड़ी थी, बकरी ने देखा की हिरन आ रहा है, बकरी सोच रही थी की यह हिरन क्यों आया है, वह हिरन बकरी के पास आ गया था, उसके बाद बकरी ने देखा तो कहने लगी की तुम तो वही हिरन हो, जिसने मेरी मदद की थी, हिरन कहता है की तुमने कहा था की मुझसे मिलने आना हो तो आ जाना इसलिए में तुमसे मिलने आया हु, यह सुनकर बकरी कहती है की तुम तो दोस्ती भी बहुत अच्छे से निभा रहे हो,

 

Because तुमने मेरी जंगल मदद की थी, अगर वह भेड़िये मुझ पर हमला कर देते तो मुसीबत का सामान करना मुश्किल होता, but तुमने उस मुसीबत से भी मुझे बचा लिया था, यह सुनकर हिरन कहता है, की मुझे तुम बहुत अच्छे लगे थे, इसलिए मेने तुम्हारी मदद की थी, बकरी ने कहा की में यहां से नहीं जा सकती, but तुम जंगल से यहां पर आये हो, मुझे बहुत अच्छा लग रहा है, हिरन कहता है की में तुम्हारे लिए बहुत कुछ कर सकता हु, अगर तुम यहां से जाना चाहती हो, तो तुम मेरे साथ चल सकती, यह सुनकर बकरी खुश हो जाती है,

Jungle ki kahani

वह बकरी हिरन के साथ जंगल की और चली जाती है, Because वह उस जगह पर रहकर भी परेशान हो गयी थी, वह जानती थी, की हिरन बहुत अच्छा है, वह उसका साथ देगा, इसलिए बकरी को कोई परेशानी नहीं थी, कुछ समय बाद ही बकरी हिरन के साथ जंगल में आ गयी थी वह देखती है की यहां पर बहुत सारे हिरण है, वह उन सभी के साथ बहुत खुश थी, अब वह बकरी उनके साथ ही रहती थी, उनके साथ ही खाना खाती थी, उनकी दोस्ती बहुत अच्छी थी, अगर आपको यह दूसरी कहानी भी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

Read More Hindi story :-

अकबर बीरबल और दो आदमी की कहानी

अकबर बीरबल के किस्से की कहानी

राजकुमारी और राजकुमार की नयी कहानी

जंगल के जादुई पेड़ की कहानी

जानवरों की सभा की हिंदी कहानी

मोटू पतलू और सपने की कहानी 

राजकुमारी की नयी कहानी 

राजकुमार और परियों की कहानी

राजकुमारी और बच्चों की काहनी

शेर हाथी और बंदर की कहानी

सोने की चिड़िया की हिंदी कहानी

छोटे कार्टून की अच्छी कहानी

बीरबल की नयी कहानी

दो आदमी की पंचतंत्र कहानी

जादुई घंटी की कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *