Panchatantra stories in hindi for two man, दो आदमी की पंचतंत्र कहानी

Panchatantra stories in hindi for two man

Panchatantra stories in hindi, दो आदमी की पंचतंत्र कहानी, दोनों आदमी चलते में बहुत अधिक थक चुके थे उन्हें लग रहा था कि अगर हम घर समय से नहीं पहुंचे तो हमारे लिए मुसीबत हो सकती है उन् आदमी को बहुत भूख लग रही थी but खाने के लिए उनके पास कुछ भी नहीं था रात बहुत अधिक हो चुकी थी उस जंगल से वह बाहर नहीं निकल सकते थे

Panchatantra stories in hindi for two man : दो आदमी की पंचतंत्र कहानी

Panchatantra stories in hindi

Panchatantra stories in hindi 

वह दोनों आदमी बात कर रहे थे कि जंगल इतना घना है कि हम कुछ भी नजर नहीं आ रहा है अगर हम यहां से जाने की कोशिश भी करते हैं तो हम कहीं भी खो सकते हैं इसलिए हमें अभी नहीं जाना चाहिए कुछ समय इंतजार करना चाहिए जब रोशनी होगी तो हम यहां से निकल जाएंगे उनके पास कुछ भी खाने को नहीं था मैं उन्हें बहुत भूख लग रही थी but अब अंधेरा होने के कारण कुछ नहीं खोज सकते थे इसलिए इंतजार कर रहे थे जब तक सुबह होती है तब तक हम यहीं पर रहना होगा

 

सुबह हो चुकी थी और जैसे जाने वाले थे की सामने से एक आदमी आता है उसे देखकर वे दोनों कहते हैं कि आप कौन हैं और यहां पर क्या कर रहे हैं वह कहने लगा कि मैं भी रास्ता भटक गया था इसलिए जंगल में ही रुक गया रात का समय था बाहर नहीं जा सकता था इसलिए इंतजार कर रहा था दोनों के साथ एक आदमी था अब यह तीनों ही साथ में चलने लगता है काफी दूरी का रास्ता तय करने के बाद वह देखते नहीं कि एक पेड़ पर बहुत सारे फल लगे हुए हैं और वह फल उन्हें बहुत मीठे लग सकते हैं

 

Because उनका रंग बहुत अच्छा है तीनों ही फल को तोड़ना चाहते थे but जैसे ही पेड़ की ओर देखते हैं तो एक बंदर बैठा है वह बंदर फल तोड़ने नहीं देगा इस बात को समझ लेते because बंदर बहुत गुस्से में लग रहा था शायद इसलिए बंदर उन्हें वहां पर रुकने नहीं देगा बंदर बहुत गुस्सा कर रहा था और बार-बार आवाज कर रहा था इससे पता चल गया था कि वह पेड़ के पास आने नहीं देगा वह बंदर को देखते हैं और उसे कहते हैं कि हमें बहुत भूख लगी है

 

तुम हमें थोड़े से फल दे सकते हो यहां पर रुकने वाले नहीं है अगर तुम हमें कुछ फल देते हैं तो हम यहां से चले जाएंगे but बंदर इस बात के लिए नहीं मान रहा दूसरा आदमी कहता है कि हमें इसकी परवाह नहीं करनी चाहिए यह बंदर हमारा कुछ नहीं कर सकता यह एक है और हम तीन है बात को समझ गए थे और पेड़ पर चढ़ने की कोशिश कर रहे थे but उन्हें नहीं पता था कि कुछ समय बाद सारे बंदर उसके पास आ जाएंगे

 

वह सभी समझ गए थे की बंदर के साथी यहां पर आ गए है वह सभी लोग वहां से भाग जाते है बंदर फल नहीं लेने देंगे और कुछ समय बाद में थक कर बैठ जाते हैं but बहुत भूख लग रही थी और उस पर बहुत सारे फल थे but एक बंदर ने हमें कुछ भी नहीं लेने दिया था दिया उसके बाद भूख से बहुत परेशान हो चुके थे और धीरे-धीरे गांव की ओर बढ़ रहे थे तभी गांव से एक आदमी आ रहा था वह कहने लगा कि मुझे लगता है कि तुम्हारी तबीयत बहुत ज्यादा खराब है

Panchatantra stories in hindi for two man | दो आदमी की पंचतंत्र कहानी

तभी उन्होंने कहा कि हम बहुत परेशानी में है हमें बहुत भूख लगी है उसके बाद थोड़ा खाना देता है जिससे कि उनकी भूख कुछ कम हो गयी थी और वह अपने गांव वापस लौट जाते हैं but उन्हें यह बात याद रहती है कि उन बंदर ने हमें खाना नहीं दिया हम उस फल को ले सकते थे but वह ऐसा नहीं कर पाए थे अगर आपको यह दो आदमी की पंचतंत्र कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

Read More Hindi story :-

राजकुमारी की नयी कहानी 

राजकुमार और परियों की कहानी

राजकुमारी और बच्चों की काहनी

शेर हाथी और बंदर की कहानी

सोने की चिड़िया की हिंदी कहानी

छोटे कार्टून की अच्छी कहानी

बीरबल की नयी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *